जिले का विवरण

मध्य हिमालय की दक्षिणी ढलानों पर स्थित टिहरी गढ़वाल उत्तराखंड राज्य के पवित्र पहाड़ी जिलों में से एक है। ब्रह्मांड के निर्माण से पहले, भगवान ब्रह्मा ने इस पवित्र भूमि पर ध्यान एवं तपस्या की थी| जिले के मुनि-कि-रेती और तपोवन प्राचीन ऋषियों के तपस्या स्थान हैं। इसके पहाड़ी दुर्गम इलाके और संचार सुगमता की कमी ने इसकी पुरातन संस्कृति को आज भी लगभग बरकरार रखने में मदद की है। टिहरी गढ़वाल के नाम में टिहरी और गढ़वाल दो शब्द शामिल हैं जिनसे मिल कर टिहरी जनपद का नाम बनता है।